Ayurvedic use of Winter Cherry (Ashwagandha)





पूज्य आचार्य बालकृष्ण जी ने इस विडियो में अश्वगंधा के प्रयोग के बारे में बताये हैं |
अश्वगंधा बहुत ही पौष्टिक व लाभदायक औषिधि हैं बहुत ही ताकतवर हैं जिनको रोग प्रतिरोधक क्षमता की कमी हैं उसको दूर करने की क्षमता हैं इसका सेवन करके आप रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ा सकते हैं और रोगों से लड़ने की क्षमता प्राप्त कर सकते हैं जिनको कमजोरी की शिकायत हैं वे अश्वगंधा का पाउडर कर 1-1 चम्मच सुबह शाम दूध के साथ सेवन करे इससे शरीर की ताकत बढ़ेगी स्फूर्ति आयेगी जिन पुरुषो को प्रमेह व प्रदर की शिकायत हैं औरतो को प्रदर हैं कमजोरी हैं व धातु रोग हैं उनके लिए भी यह बहुत ही शक्तिशाली हैं जो शकरा के रोगी हैं वे भी इसके पाउडर का सेवन कर सकते हैं जिन बच्चो को कमजोरी हैं बहुत दुबले पतले हैं व पसलियां चलती हैं ख़ास तौर से ऐसे बच्चे जो अन्न नही ले सकते उन्हें अश्वगंधा की जड़ को चन्दन की तरह घिसकर थोडा शहद मिलाकर चटायें इससे बच्चो की कमजोरी दूर होगी और पसलिया चलती हैं तो वह भी बंद हो जायेगी कमजोरी के लिए यह बहुत ही लाभकारी प्रयोग हैं बड़े लोग इसका पाउडर करके सेवन कर सकते हैं यह नपुंसकता और यौन दुर्बलता को भी दूर करता हैं यह बहुत ही लाभकारी पौधा हैं |

Visit Us

https://www.bharatswabhimantrust.org;
BLOG: https://www.swami-ramdev.com
https://www.facebook.com/bharatswabhimanrtrust; https://www.facebook.com/swami.ramdev
https://www.bharatswabhimantrust.org; www.facebook.com/pages/Poojya-Acharya-Bal-Krishan-Ji- Maharaj/192639277447326?fref=ts

Google +
https://plus.google.com/u/0/b/116234359494767803939/116234359494767803939/posts

Follow us on Twitter
Click:https://twitter.com/bst_official
Click:https://twitter.com/yogrishiramdev



source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *